देश का पहला Cryptocurrency ETF जल्द ही होगा लॉन्च, निवेशकों को क्या होगा फायदा, जानिए पूरी डिटेल

Cryptocurrency ETF
Cryptocurrency ETF

Cryptocurrency ETF: क्रिप्टोकरेंसी में निवेश तो हर कोई करना चाहता है लेकिन क्रिप्टोकरेंसी के मार्केट में रिस्क होने के कारण लोग अपने पैसों को क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करते समय में डरते हैं लेकिन मार्केट में ऐसे प्लेटफार्म और टूल मोजूद है जिसकी मदद से आप क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करते हैं तो आपको ना के बराबर नुकसान होगा। आपको पता ही होगा की कुछ ही समय पहले देश का पहला Crypto Index IC15 लॉन्च हुआ था. आपको बता दें कि अब देश का पहला Cryptocurrency ETF जल्द ही लॉन्च होने जा रहा हैं चलिए जानते हैं आखिर क्या है क्रिप्टोकरेंसी ईटीएफ (Cryptocurrency ETF Kya Hai) क्रिप्टो निवेशक इसका उपयोग और कैसे कर पाएंगे हैं

क्या है Cryptocurrency ETF ?

क्रिप्टोकरेंसी ईटीएफ क्या है (Cryptocurrency ETF Kya Hai) क्रिप्टो ईटीएफ एक exchange ट्रेडेड फंड है आपको बता दें की क्रिप्टो करेंसी ईटीएफ एक प्रकार की सिक्योरिटी होतीं है जो किसी भी Crypto index की तरह ही किसी भी क्रिप्टोकरेंसी यहाँ किसी ऐसे क्रिप्टो टोकन को ट्रेक करता है जो निवेशकों काफी जादा मुनाफा हो सकें. Cryptocurrency ETF फिर एक निश्चित समय पर अपने यूजर को उन क्रिप्टो में निवेश करने में मदद करता हैं अगर हम सरल शब्दों में कहें तो Cryptocurrency ETF ऐसा क्रिप्टो exchange जो आपको क्रिप्टो करेंसी को खरीदनें और उनमें ऐसी बेस्ट क्रिप्टो करेंसी सजेस्ट करता है जो आपको कम समय में काफी जादा रिटन दे और आपके पैसे भी ना दुबे सके.

यह भी पढ़ें टॉप 5 सबसे अच्छा Cryptocurrency 2022 में निवेश करने के लिए

Cyrptocurrency ETF किस कंपनी का होगा ईटीएफ

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि टोरस क्लिंग ब्लॉकचैन आईएफसी मुंबई स्थित कोस्मी फाइनेंशियल होल्डिंग्स और हैदराबाद में मौजूद क्लिंग ट्रेडिंग इंडिया के बीच एक जॉइंट वेंचर है। इसी ने भारत में डिजिटल एसेट बेस्ड प्रोडक्ट्स को डेवलप करने के लिए बीएसई की इंटरनेशनल शाखा इंडिया आईएनएक्स के साथ एक समझौता किया है। इस वित्त वर्ष के अंत तक यानी 31 मार्च तक यह ईटीएफ गिफ्ट (जीआईएफटी) सिटी में उपलब्ध हो सकती है। गिफ्ट सिटी गुजरात के गांधीनगर में मौजूद एक केंद्रीय व्यापार सेंटर है।

Cyrptocurrency ETF कैसे मिलेगा मुनाफा

टोरस क्लिंग ब्लॉकचैन आईएफसी कोस्मी फाइनेंशियल होल्डिंग्स और क्लिंग ट्रेडिंग इंडिया के बीच एक 50:50 जॉइंट वेंचर है। कोस्मी फाइनेंशियल होल्डिंग्स को सैम घोष और क्लिंग ट्रेडिंग इंडिया द्वारा स्पॉन्सर किया जाता है। टोरस क्लिंग ब्लॉकचैन और क्लिंग ट्रेडिंग ट्रैक द्वारा प्रस्तावित ईटीएफ डिजिटल टोकन में सीधे निवेश किए बिना क्रिप्टोकरेंसी से रिटर्न दिलाएगा।

Cyrptocurrency ETF में कब कर पाएंगे निवेश

ये ईटीएफ सैंडबॉक्स एंवायरमेंट में लॉन्च हो सकता है, जिससे उभरते जोखिमों के लिए प्रोडक्ट की लाइव टेस्टिंग में मदद मिलेगी। इसके नतीजे में बड़ी संख्या में निवेशकों के प्रभावित होने से पहले इसे दुरुस्त कर लिया जाएगा। बता दें कि एक बार जब इस ईटीएफ को गिफ्ट रेगुलेटर अथॉरिटी इंटरनेशनल फाइनेंशियल सर्विस सेंटर (आईएफसीएसए) से मंजूरी मिल जाएगी, तो भारतीय निवेशक आरबीआई की लिब्रलाइज्ड रेमिटेंस स्कीम रूट का उपयोग करके इसमें निवेश कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें Cryptocurrency Invest 2022: अगर करना है क्रिप्टोकरेंसी में निवेश, यह है ‘Best Cryptocurrency Invest, यहाँ जानें